राधाजी के नाम की महिमा ।। Radha Naam ki Mahima.

राधाजी के नाम की महिमा ।। Radha Naam ki Mahima. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, परम प्रिया श्री राधाजी के नाम की

Read more

भक्ति की पराकाष्ठा ।। Sampurna Samarpan.

भक्ति की पराकाष्ठा ।। Sampurna Samarpan.   जय श्रीमन्नारायण, वाणी गुणानुकथने श्रवणौ कथायां, हस्तौ च कर्मसु मनस्तव पादयोर्न: ।। स्मृत्यां

Read more

गजेन्द्रमोक्ष स्तोत्रम् ।। Shri Gajendra Moksha Stotram.

गजेन्द्रमोक्ष स्तोत्रम् ।। Shri Gajendra Moksha Stotram. श्रीशुक उवाच:- ” एवं व्यवसितो बुद्ध्या समाधाय मनो ह्रदि । जजाप परमं जाप्यं

Read more

अथ श्री मधुराष्टकं रचना : श्री वल्लभाचार्य।।

अथ श्री मधुराष्टकं रचना : श्री वल्लभाचार्य।। Madhurashtakam अधरं मधुरं वदनं मधुरंनयनं मधुरं हसितं मधुरम् । हृदयं मधुरं गमनं मधुरंमधुराधिपतेरखिलं मधुरम्

Read more

जीवन एक यज्ञ है ।।

जीवन एक यज्ञ है ।।Life is a sacrifice जय श्रीमन्नारायण, परमात्मा के मिलन रूपी यज्ञ मे श्रद्धा पत्नी है, आत्मा

Read more

धर्म तथा धार्मिक मनुष्य के दस लक्षण !!

धर्म तथा धार्मिक मनुष्य के दस लक्षण !! Dharm and dharmik manushya ke das lakshan नमों नारायणाय, मनुस्मृति में धर्म के

Read more

वैदिक संस्कृति में मुख्य रूप से सोलह संस्कार माने गए है ।।

वैदिक संस्कृति में मुख्य रूप से सोलह संस्कार माने गए है ।। Sixteen Sanskar these vedic culture “संस्कार” चरक ॠषि

Read more

श्रीमद्भागवतान्तर्गतं वेणुगीतम् ।।

।। श्रीमद्भागवतान्तर्गतं वेणुगीतम् ।।  Venu Geet श्रीशुक उवाच:- इत्थं शरत्स्वच्छजलं पद्माकरसुगन्धिना । न्यविशद्वायुना वातं स गोगोपालकोऽच्युतः ।।१।। अर्थ:- श्री शुकदेवजी कहते

Read more

हमारे जीवन के कुछ यथार्थ सत्य ।।

हमारे जीवन के कुछ यथार्थ सत्य ।। Real truth of our lifes जय श्रीमन्नारायण, Real truth of our life’s – Bhagwat

Read more

राजनीतिक दुष्चक्र में वैदिक संस्कृति कैसे ?।।

राजनीतिक दुष्चक्र में वैदिक संस्कृति कैसे ?।। Rajnitaitik Duschkra me vedic sanskriti जय श्रीमन्नारायण, राजनीतिक दुष्चक्र में वैदिक संस्कृति, कैसे ?

Read more