सत्संग की महिमा ! श्रीमद्भागवत कथा – तृतीय स्कन्ध – अट्ठारहवाँ अध्याय ।।

सत्संग की महिमा ! श्रीमद्भागवत कथा – तृतीय स्कन्ध – अट्ठारहवाँ अध्याय ।। Satsang ki Mahima Bhagwat Puran 3 Skandh

Read more

कामनाओं की पूर्ति का एक अकाट्य साधन यज्ञ ।।

कामनाओं की पूर्ति का एक अकाट्य साधन यज्ञ ।। An undisputed means of fulfilling desires – Yagya जय श्रीमन्नारायण, मित्रों,

Read more

संसार एक परीक्षा स्थल है परन्तु इसमें दुःख एक जटिल प्रश्न है ।।

संसार एक परीक्षा स्थल है परन्तु इसमें दुःख एक जटिल प्रश्न है ।। World is a test site but sadness is

Read more

लाभ से लोभ और लोभ से पाप बढ़ता है-लाभेन वर्धते लोभः ।।

लाभ से लोभ और लोभ से पाप बढ़ता है-लाभेन वर्धते लोभः ।।  Labh se lobh and lobh se pap जय श्रीमन्नारायण,

Read more

मनुष्य के वासना की उम्र ।।

मनुष्य के वासना की उम्र ।। Manushy ke vasana ki umra एक दिन सम्राट अकबर ने दरबार में अपने मंत्रियों से

Read more

देवकी के मृतवत्सा होने का कारण ।।

देवकी के मृतवत्सा होने का कारण ।। Devaki ke putron ki mrityu ka karan अवश्यमेव भुक्तब्यं कृतं कर्म शुभाशुभं ।। 1.एक

Read more

राधाजी के नाम की महिमा ।। Radha Naam ki Mahima.

राधाजी के नाम की महिमा ।। Radha Naam ki Mahima. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, परम प्रिया श्री राधाजी के नाम की

Read more

भक्ति की पराकाष्ठा ।। Sampurna Samarpan.

भक्ति की पराकाष्ठा ।। Sampurna Samarpan.   जय श्रीमन्नारायण, वाणी गुणानुकथने श्रवणौ कथायां, हस्तौ च कर्मसु मनस्तव पादयोर्न: ।। स्मृत्यां

Read more

अथ श्री मधुराष्टकं रचना : श्री वल्लभाचार्य।।

अथ श्री मधुराष्टकं रचना : श्री वल्लभाचार्य।। Madhurashtakam अधरं मधुरं वदनं मधुरंनयनं मधुरं हसितं मधुरम् । हृदयं मधुरं गमनं मधुरंमधुराधिपतेरखिलं मधुरम्

Read more

जीवन एक यज्ञ है ।।

जीवन एक यज्ञ है ।।Life is a sacrifice जय श्रीमन्नारायण, परमात्मा के मिलन रूपी यज्ञ मे श्रद्धा पत्नी है, आत्मा

Read more